Monday, 25 July 2016

बच्चों के संपूर्ण विकास के लिए सिर्फ प्रोटीओमेगा

पहले के समय में बच्चा लगभग 20 साल की उम्र के बाद अपने बराबर के बच्चों के साथ पढ़ाई और करियर को लेकर प्रतिस्पर्धा करता था। लेकिन आज का समय इतना एडवांस हो गया है अभिभावक छोटी से उम्र में ही अपने बच्चों पर खुद की उम्मीदों का टोकरा रख देते हैं। अगर बच्चें उन उम्मीदों पर खरे उतर गए तब तो उनकी वाहवाई होती है, नहीं तो अभिभावक सफल बच्चों का उदाहरण देकर व बात-बात पर ताने माकर उन्हें उनकी प्राकृतिक क्षमता से भी कमजोर बना देते हैं।

खुशखबरी! प्रोटीओमेगा दिलाएगा पतलेपन से छुटकारा

संघर्षी वातावरण में हम लोग इतने अंधे हो गए हैं कि अपने बच्चों के खानपान पर ध्यान देने के बजाय उनके आगे सिर्फ उम्मीदों का घड़ा रख देते हैं। जबकि हकीकत यह है कि बच्चों का सम्पूर्ण विकास और शारीरिक क्षमता सिर्फ उसके खानपान पर निर्भर करती है। जब तक बच्चों के आहार में प्रोटीन शामिल नहीं होगा तक तक बच्चें एक स्वस्थ शरीर पाने में अक्षम रहेंगे। क्योंकि खानपान का सीधा असर हमारी सेहत और उज्ज्वल मस्तिष्क पर पड़ता है। बच्चा अपने आहार में जितना अधिक मात्रा में प्रोटीन और पोषक तत्वों का सेवन करेगा उतना ही अच्छा उसके शरीर का विकास होगा।


आजकल का खानपान
आजकल का खानपान इतना कैमिकल युक्त हो गया है वह हमारे इम्यून सिस्टम को कमजोर करता जा रहा है। दैनिक आहार में कुछ ना कुछ फास्ट फूड शामिल होने के चलते बच्चों को पौष्टिक से नफरत होती जा रही है। एक तो शहरों का प्रदूषण भरा माहौल और दूसरा बच्चों का बेकार खानपान उनके संपूर्ण विकास पर विराम लगा देते है। जिससे बच्चें छोटी से उम्र में ही शारीरिक रूप से अस्वस्थ और कई गंभीर बीमारियों से घिरने लगते हैं।

प्रोटीओमेगा से दूर होता है डिप्रेशन, मिलती है शांति

इस स्थिति में परिजन अफरा-तफरी में बच्चों के विकास के लिए बाजारों में बिक रहे तमाम तरह के सप्लीमेंट और दवाईयों का सहारा लेते हैं और अपने बच्चों को स्वस्थ होने की दुआई देकर जबरन उनका सेवन करने के लिए दबाव डालते हैं। जिससे या तो साइडइफेक्ट होने शुरू हो जाते हैं और या फिर बच्चे बीमार पड़ जाते हैं।


संपूर्ण विकास के लिए सिर्फ प्रोटीओमेगा
प्रोटीओमेगा यानि कि प्रोटीन और ओमेगा के मिश्रण से बना एक ऐसा सप्लीमेंट जो बच्चों में हर तरह से विकास करने में कामयाब है। Dr.G Wellness के प्रोटीओमेगा सप्लीमेंट में प्रचुर मात्रा में प्रोटीन, ओमेगा-3, ओमेगा-6, कॉर्बोहाईड्रेट, फाइबर और अन्य पोषक तत्व हैं। इन सभी तत्वों की बच्चों को छोटी सी उम्र में ही जरूरत होती है। इस सप्लीमेंट के नियमित सेवन से बच्चों के ​मस्तिष्क विकास के साथ-साथ उनका वजन, भूख, आखों की रोशनी, हाईट, पाचन तंत्र और इम्यून सिस्टम आदि सभी चीजें संतुलित रहती हैं।

अच्छे स्वास्थ्य का मंत्र है प्रोटीओमेगा

इसे पानी, दूध या किसी भी शेक्स में मिलाकर देने से बच्चें हर तरह की बीमारी से अछूत रहते हैं। यह सप्लीमेंट जितना हेल्दी है उतना ही स्वादिष्ट भी है। प्रोटीओमेगा की सबसे बड़ी खासियत यह है कि इस अकेले सप्लीमेंट में सभी महत्वपूर्ण पौषक तत्व प्रचुर मात्रा में पर्याप्त हैं।

0 comments:

Post a Comment