Thursday, 7 July 2016

जानिए, करेले को क्यों कहा जाता है धरती का अमृत


करेला एक ऐसी सब्जी है जो स्वाद में कड़वी तो जरूर होती है लेकिन हमारे शरीर के लिए रामबाड़ साबित हुई है। करेले का नाम सुनते ही अधिकतर लोगों की जीभ कड़वी होने लगती है। जिसके चलते लोग इसे अपनी डाइट में जोड़ने से बचते हैं। खासतौर से बच्चे। लेकिन अगर हम इस कड़वे करेले के फायदे गिनने बैठ शायद ही कोई गिना पाए। आयुर्वेदिक के साथ-साथ एलोपेथी ने भी करेले के फायदों का लोहा माना है।  आइए आज हम आपको बताते हैं कि करेले के या फिर करेले के जूस पीने के  क्या फायदे हैं।


- करेले का प्रयोग कई तरह की दवाईयों में किया जाता है।
- खाली पेट करेले का जूस पीने से पाचन तंत्र संबंधी सभी बिमारियां दूर होती हैं।
- अगर किसी को भूख नहीं लगती तो खाली पेट करेले का जूस भूख बढ़ाने में भी मदद करता है। 
- रोज सुबह करेले का जूस पीने से ब्लड शुगर लेवल कम होता है।
- शुगर के मरीज अगर 3 दिन तक खाली पेट करेले का जूस पीएं तो काफी हद तक बीमारी को नियंत्रण में किया जा सकता है।
- करेले के बीजों में भी पॉलीपेप्टाइड-पी होता है जो कि इन्सुलिन को काम में लेकर डायबेटिक्स में शुगर लेवल को कम करता है
- करेले का जूस कैंसर पैदा करने वाली कोशिकाओं में ग्लूकोस का पाचन रोक देता है, जिससे कैंसर को जड़ से खत्म किया जा सकता है।
- करेले का जूस चेहरे के दाग-धब्बे भी हटाता है।
- रोज करले का जूस पीने से हमारा लीवर मजबूत होता है और चेहरे पर चमक आती है।
- करेले में बीटा- कैरोटीन और विटामिन ए की अधिकता होती है जो हमारी आखों की रोशनी बढ़ाने में मदद करता है।
- करेले का जूस हमारे खून में से जहरीले तत्वों को निकालता है, जिससे हमारा ब्लड साफ होता है।
- करेला का जूस या सब्जी गैस, अपच और दमा जैसी बिमारियों को काबू में करता है।
- 3 से 6 महीने तक एक कप करेले के जूस में नींबू का रस मिलाकर सेवन करने से सोराइसिस के लक्षण दूर होते हैं।
- उल्टी-दस्त या हैजा होने पर करेले के जूस में थोड़ा सा पानी और काला नमक मिलाकर पीने से तुरंत आराम मिलता है।

0 comments:

Post a Comment