Thursday, 11 August 2016

मोटापे से हैं परेशान, तो प्रोटीओमेगा है समाधान


आज के समय में बिगड़े लाइफस्टाइल की वजह से हर तीसरा आदमी अपने मोटापे से परेशान है। जब मोटापा हद से ज्यादा बढ़ने लगता है तो लोग इसे कम करने के लिए बिना सोचे समझे कुछ भी हथकंडे अपना लेते हैं। अगर आप भी कुछ ऐसा ही कर रहे हैं या ऐसा करने जा रहे हैं तो सावधान हो जाएं। क्योंकि उल्टे सीधे तरह से वजन कम करना आपको बेहतर दिखने में तो मदद कर सकता है लेकिन यह आपके लिए मानसिक तौर पर बहुत हानिकारक साबित होगा। एक अच्छे तरह से वजन कम करने के लिए सबसे जरूरी है आप अपनी डाइट को हेल्दी और हल्का करें। अपने आहार में से फास्ट फूड और तले—भुने खाने को बिल्कुल नजरअंदाज करें।

हेल्दी डाइट से वजन कम से दो फायदे होते हैं। पहला— आपके शरीर में अतिरिक्त चर्बी नहीं बनती, दूसरा— वजन कम होने के साथ ही आपके शरीर में काफी एनर्जी रहती है। वैसे तो बाजारों में वजन घटाने के लिए कई तरह के फूड सप्लीमेंट मिलते हैं। लेकिन उनमें से ज्यादातर सप्लीमेंट में आर्टिफिशल शुगर और फ्लेवर के साथ ही प्रोटीन की सहीं मात्रा नहीं ​होती है। जिसके चलते लोगों को पेट में दर्द, पेट फूलना, गैस, कब्ज और गंदी डकारे आने की शिकायत होती है।


अगर आप एक हेल्दी सप्लीमेंट के साथ वजन कम चाहते हैं तो Dr.G wellness का आयुर्वेदिक हेल्थ सप्लीमेंट प्रोटीओमेगा आपकी समस्या का हल है। नेचुरल सप्लीमेंट प्रोटीओमेगा में न्यूजीलेंड की घास खाने वाली गायों के दूध से 'वे' (Whey) प्रोटीन को डाला गया है। वे प्रोटीन एनर्जी के साथ वजन कम करने का सबसे अच्छा माध्यम है। वे प्रोटीन से वजन कम करने को मेडिकल विभाग ने भी मंजूरी दी है। इसके साथ ही प्रोटीओमेगा में 'स्टीविया' की पत्तियों से कड़वे भाग को हटाकर मीठे भाग से नेचुरल स्वीटनर और 'चिया' के बीजों से नेचुरल ओमेगा-3 फैटी ​एसिड लिया है। फाइबर वजन कम करने के दौरान आपके शरीर की मांसपेशियों को मजबूती प्रदान करता है। प्रोटीओमेगा इसलिए भी खास है क्योंकि इसके हर 20 ग्राम के पाउच में 10.87 यानि कि आधे से ज्यादा मात्रा प्रोटीन की है।

इस नेचुरल सप्लीमेंट को स्वादिष्ट बनाने के लिए प्राकृतिक 'वनिला बीन्स' से वनिला फ्लेवर लिया है। इसके अलावा इसमें कॉर्बोहाइड्रेट, फाइबर और फैट के साथ ही कई अन्य पोषक तत्व भी शामिल हैं। प्रोटीओमेगा को खराब होने से बचाने के लिए इसमें रोजमेरी और निसिन डाला गया है।

सावधान— अगर आपके बच्चे या आप थोड़े बहुत भी मोटे हैं तो आप नेचुरल प्रोटीओमेगा सप्लीमेंट को अनार, अनानास और स्ट्राबेरी जैसे फलों को सादे पानी और कुछ बर्फ के टुकड़ों के साथ स्मूदी बनाकर लें। वहीं, अगर आप कम वजन या थोड़ा कमजोर हैं तो आप प्रोटीओमेगा को दूध या फिर किसी भी शेक के साथ मिलाकर ले सकते हैं।

0 comments:

Post a Comment